शनिवार, 24 मार्च 2018

सुन जीवन एक तराना है तनु थदानी हे ईश्वर-3

ये ग़म तो  एक  खजाना है !
फिर सुख तो आना जाना है!

रहने की जगह औकात ही है,
बाकी  तो  मात्र  बहाना  है !

इतने शिकवे, साजिश, नफरत,
दिल  है  या  कबाड़खाना है ?

दिल की धकधक सांसो की लय,
सुन  ; जीवन एक  तराना  है !

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें